ट्रेंडिंग

फसल बीमा सूची घोषित, मिलेंगे 45,000 हजार रुपये, लिस्ट मे देखें अपना नाम | Fasal Bima New List Check

Fasal Bima New List Check : इस साल खरीफ सीजन 2023 में भारी बारिश के कारण किसानों की फसल बर्बाद हो गई थी। जिले के 10 लाख 57 हजार 508 किसानों ने 6 लाख 51 हजार 422 हेक्टेयर क्षेत्र का फसल बीमा कराया था।

अधिसूचना के अनुसार और स्थानीय प्राकृतिक आपदाओं और फसल के बाद के नुकसान के घटक के तहत 366 करोड़ 50 लाख रुपये। 106 करोड़ कुल 472 करोड़ 51 लाख रुपये वितरित किये गये हैं, ऐसी जानकारी जिला अधीक्षक कृषि अधिकारी भाऊसाहब बरहाटे ने दी। Fasal Bima New List Check

लाभार्थी किसानों के लिस्ट में अपना नाम चेक करने

के लिए यहां क्लिक करें

Crop Insurance New List 2024

नांदेड़ के लिए प्रधानमंत्री पिकविमा योजना यूनाइटेड इंडिया जनरल इंश्योरेंस कंपनी के माध्यम से कार्यान्वित की गई है। कलेक्टर अभिजीत राऊत ने किसानों को नुकसान का 25 प्रतिशत अग्रिम भुगतान दिलाने के लिए सोयाबीन, खरीफ ज्वार, कपास और अरहर फसलों के लिए मध्य-मौसम विविधता अधिसूचना लागू की थी। Crop Insurance Survey List

9 करोड़ किसानों के लिए खुशखबरी, खाते में आएंगे 16वीं किस्त के 4000 रूपए,

पति-पत्नी दोनों को मिलेगा इस योजना का लाभ!

इस अधिसूचना के मुताबिक बीमा कंपनी ने किसानों के खाते में 366 करोड़ 50 लाख रुपये की राशि जमा कर दी है। इसके साथ ही फसल बीमा योजना के स्थानीय प्राकृतिक आपदा एवं फसलोपरांत हानि घटकों के अंतर्गत प्राप्त अग्रिम सूचनाओं का सारांश बनाकर 99 करोड़ 65 लाख रूपये एवं तृतीय किश्त में 6 करोड़ 36 लाख रूपये की राशि आवंटित की गई है। वर्ष 2022-2023 में विभिन्न घटकों के तहत कुल 472 करोड़ 51 लाख रुपये आवंटित किये गये हैं।

इस दिन आएग नमो शेतकारी योजना का दूसरा हप्ता

यहां क्लिक करके देखिए

75% मुआवजे का अलग से कोई प्रावधान नहीं है

फसल कटाई प्रयोग के अनुसार, बढ़ी हुई राशि सभी संबंधित किसानों को जमा की जाएगी, जिसे राजस्व मंडलों में लागू किया जाएगा, जिसके लिए सीमा उत्पादन के आधार पर फसल बीमा लागू किया जाएगा। इसके अलावा, कोई अलग प्रावधान नहीं है फसल बीमा योजना में 75 फीसदी मुआवजा Fasal Bima New List Check

पशुपालन के लिए सरकारी लोन स्कीम,

ऐसे करें ऑनलाइन अप्लाई |

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button