जागतिक कट्टाट्रेंडिंगमहाराष्ट्रयोजना कट्टाशेती कट्टा

dairy farming loan 2023 :15 गायों की डेयरी खोलने पर मिलेगी 21 लाख रुपए की सब्सिडी, ऐसे उठाएं लाभ|

dairy farming loan 2023 :देश की दूध की मांग बढ़ोतरी के अनुपात में दूध का उत्पादन नहीं हो पा रहा है। देश में दूध की बढ़ती मांग की पूर्ति के लिए दूधोत्पादन बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है। इसी कड़ी में सरकार की ओर से गाय की डेयरी (cow dairy) खोलने के लिए 31 लाख रुपए की सब्सिडी (subsidy) दी जा रही है। खास बात यह है कि इस योजना के तहत गाय की डेयरी खोलने के लिए ही अनुदान दिया जा रहा है।

15 गायों की डेयरी खोलने पर मिलेगी 21 लाख रुपए की सब्सिडी

यहाँ करे आवेदन

यदि आप 15 गाय की डेयरी खोलते हैं तो आपको 31 लाख रुपए तक की सब्सिडी (subsidy) मिल सकती है। बता दें कि ग्रामीण इलाकों में खेती के साथ ही किसान पशुपालन भी करते हैं। ऐसे में सरकार किसानों की आय बढ़ाने के लिए उन्हें पशुपालन में गाय पालने पर जोर दे रही है ताकि गाय के गोबर व मूत्र का प्रयोग किसान जैविक खाद के रूप में करके इससे अधिक मुनाफा कमा सकें।

आज हम ट्रैक्टर जंक्शन के माध्यम से आपको गाय की डेयरी खोलने के लिए सरकार की ओर से कितनी सब्सिडी (subsidy) दी जाएगी, सब्सिडी के लिए आपको कहां आवेदन करना होगा, इसके लिए आपको किन दस्तावेजों (documents) की आवश्यकता होगी आदि बातों की जानकारी दे रहे हैं।dairy farming loan 2023

बकरी पालन, 500 बकरी और 25 बकरे पालने के लिये मिलेंगे 10 लाख रुपये,

जाने कैसे आवेदन

किस तरह मिलेगा सब्सिडी (subsidy) का लाभ

नंदनी कृषक समृद्धि योजना में सब्सिडी (Subsidy in Nandani Krishak Samriddhi Yojana) का लाभ पशुपालक किसानों को तीन चरणों में दिया जाएगा। प्रथम चरण में इकाई के निर्माण के लिए परियोजना लागत का 25 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा। दूसरे चरण में 25 दुधारू गायों की खरीद, उनके 3 साल के बीमा और परिवहन पर परियोजना लागत का 12.5 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा। वहीं तीसरे चरण मे परियोजना लागत का शेष 12.5 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा।

9 करोड़ किसानों के लिए खुशखबरी, खाते में आएंगे 16वीं किस्त के 4000 रूपए,

पति-पत्नी दोनों को मिलेगा इस योजना का लाभ!

किस नस्ल की गाय की डेयरी के लिए दिया जाएगा अनुदान dairy farming loan 2023

नंदिनी कृषक समृद्धि योजना (Nandani Krishak Samriddhi Yojana) के तहत लाभार्थी को उत्तम नस्ल की गाय की खरीद ही करनी होगी। इसमें गिर, साहीवाल, थारपारकर और गंगातीरी प्रजाति की दुधारू गायों का ही पालन करना होगा। बता दें कि यूपी दूधोत्पादन में देश में नं. वन स्थान पर है। हालांकि राज्य में प्रति पशु दूध उत्पादकता बहुत कम है। इसका मुख्य कारण उच्च गुणवत्ता वाले दुधारू पशुओं की कमी होना है। इस कमी को पूरा करने और उन्नत नस्ल के दुधारू पशुओं की अधिक से अधिक इकाई स्थापित करने के लिए नंदिनी कृषक समृद्धि योजना शुरू की गई हे। सरकार का मानना है कि इससे प्रदेश में दूध का उत्पादन बढ़ने के साथ ही पशुपालक किसानों की आय में भी इजाफा होगा।

सरकार का बड़ा ऐलान! ट्रैक्टर ट्रॉली खरीदने पर मिलेगी 90% की अनुदान राशि

यहां से ऑनलाइन आवेदन करें|

समृद्धि योजना के लिए पात्रता व शर्ते dairy farming loan

नंदिनी कृषक समृद्धि योजना (Nandani Krishak Samriddhi Yojana) के लिए कुछ पात्रता और शर्तें निर्धारित की गई हैं। इन्हें पूरा करने पर ही आप इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं, ये पात्रता और शर्तें इस प्रकार से हैं

  • योजना का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी के पास कम से कम 3 साल का गाय पालन का अनुभव होना चाहिए।
  • गायों की ईयर टैगिंग करना जरूरी होगा।
  • गाय की डेयरी यूनिट स्थापित करने के लिए किसान के पास 0.5 एकड़ जमीन होनी चाहिए।
  • वहीं लाभार्थी के पास हरे चारे के लिए कम से कम 1.5 एकड़ जमीन होनी चाहिए।
  • गायों की ईयर टैगिंग अनिवार्य है, इसके साथ ही यूनिट स्थापित करने के लिए किसान के पास 0.5 एकड़ जमीन होना भी आवश्यक है। साथ ही लाभार्थी के पास हरे चारे के लिए कम से कम 1.5 एकड़ जमीन होनी चाहिए। यह जमीन पशुपालक की खुद की हो सकती है या फिर उसके द्वारा लीज 7 साल के लिए लीज पर ली हुई भी हो सकती है।
  • इससे पहले संचालित कामधेनु, मिनी कामधेनु और माइको कामधेनु योजना के लाभार्थी इस योजना का लाभ नहीं ले सकते हैं।

Tata की मशहूर कार Punch का Electric वर्जन जल्द होगा लॉन्च,

इतनी कम होगी कीमत…

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button